मंदिर में पूजा करने पर बनवासी को पीटा‚ चंदौली थाने पर डंटे ग्रामीण व भाकपा माले

चंदौली कोतवाली गेट पर प्रदर्शन व नारेबाजी करते बनवासी समाज के लोग व भाकपा माले कार्यकर्ता।
चंदौली कोतवाली गेट पर प्रदर्शन व नारेबाजी करते बनवासी समाज के लोग व भाकपा माले कार्यकर्ता।

भाकपा माले नेता बोले‚ बनवासी समाज के साथ हो रहा अन्यायः भाकपा माले

Young Writer, चंदौली न्यूज। भाकपा माले के नेतृत्व में बुधवार को ग्रामीणों की भारी भीड़ कोतवाली पहुंची। इस दौरान ग्रामीणों ने काली मंदिर पर मधुबन बहोरीकपुर निवासी बनवासी रामचंद्र की बीते 28 अगस्त को ब्राह्मणों द्वारा पिटाई किए जाने के मामले से खफा नजर आए। बनवासी समुदाय के लोगों ने शिकायती प्रार्थना-पत्र देकर रामचंद्र बनवासी की पिटाई करने वाले आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की।
इस दौरान भाकपा माले नेता शशिकांत सिंह ने कहा कि मधुबन बहोरीकपुर बनवासी बस्ती के रामचंद्र बनवासी 28 अगस्त रात्रि अपनी अस्वस्थ भाभी को दवा लेने के लिए पिपरी गए थे। दवा ना मिलने पर अपने गांव के काली मंदिर में प्रार्थना करने चले गए। यह देख गांव के ब्राम्हण आग बबूला हो गए और गालियां देने लगे विरोध करने पर ब्राह्मणों ने रामचंद्र बनवासी को जमकर लाठी-डंडे से पिटाई की और 112 नंबर डायल कर पुलिस बुला लिया। इसके बाद रामचंद्र को चोरी करने का इल्जाम लगाया। आरोप लगाया कि अगले दिन रामचंद्र बनवासी अपना मुकदमा दर्ज कराने के लिए गांव की जनता के साथ थाने जा रहे थे, लेकिन ब्राह्मणों ने बीच रास्ते से गिरफ्तार करवा कर बंद करा दिया, जहां पर पुलिस ने थाने में दोनों भाइयों के साथ मारपीट की। इसके साथ ही धारा-151 में चालान कर दिया। कहा कि इस मामले में बनवासी समाज के साथ अन्याय हो रहा है। पुलिस को एफआईआर दर्ज कर आरोपियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। कहा कि मामले में उचित कार्यवाही नहीं हुए तो बहोरीकपुर में जनसभा कर आंदोलन का बिगुल फूंका जाएगा, जिसकी पूरी जवाबदेही जिला प्रशासन की होगी। प्रतिनिधिमंडल में कामरेड रमेश राय, कृष्णा राय, उमानाथ चौहान, सारनाथ राय, अक्षयबर वनवासी सहित विशाल चौहान, मनीष बनवासी, शशि कला, राधिका, सुशीला देवी उपस्थित रहे।