नौगढ़ः हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए नौगढ़ के वृंदावन में सड़क जाम किए ग्रामीण।
हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए नौगढ़ के वृंदावन में सड़क जाम किए ग्रामीण।

Young Writer, नौगढ़ न्यूज। आरक्षित वन भूमि पर कब्जा करने को लेकर हुए झगड़ा झंझट के बाद हुई मारपीट में गुरुवार की रात रामकेवल नामक अधेड़ की मौत हो गई। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों ने गुरूवार को नौगढ़-चकिया मुख्य मार्ग पर कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बिन्द्रावन के सामने प्रदर्शन कर के सड़क जाम कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को काफी समझा बुझाकर आक्रोश को शांत कराया।

बताया जाता है कि कर्माबांद गांव निवासी दिव्यांग रामकेवल 56 वर्ष काफी दिनो से चिरवाटांड़ जंगल में खेती बारी करके समीप ही कच्चा मकान बनाकर रहता था। वहीं कुछ दूरी पर उसका भाई रामभजन चौहान तथा भांजा कोमल भी औरवाटांड़ नाला के किनारे घर बनाकर रहते हैं। काफी दिनो से बीमार चल रहे रामकेवल ने तांत्रिकों के कहने पर बुधवार को देर शाम कोमल व रामभजन के घर के करीब मौजूद पीपल के पेड़ में शराब चढाने के लिए गया था। जिसे देख उसका भांजा कोमल चौहान व भतीजा (रामभजन) का पुत्र राजू चौहान ने मना किया, जिससे कहासुनी होने पर कोमल चौहान व राजू चौहान ने  लाठी डंडा से रामकेवल की काफी पिटाई कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। गुरुवार को परिजनों के ग्रामीणों ने नौगढ़-चकिया मुख्य मार्ग को जाम कर हत्या मे शामिल अभियुक्तों को गिरफ्तार करने की जिच पर अड़ गए। जिन्हें समझा-बुझाकर प्रदर्शन समाप्त कराया गया। थाना प्रभारी दीनदयाल पांडेय ने बताया कि अभियुक्तों की तलाश के लिए संभावित ठिकानों पर पुलिस की दबिश जारी है।