हमलावर अस्पताल संचालक की गिरफ्तारी के लिए स्वास्थ्य कर्मियों का बहिष्कार

गिरफ्तारी की मांग को लेकर नौगढ़ सीएससी पर बहिष्कार व नारेबाजी करते स्वास्थ्य कर्मी।
गिरफ्तारी की मांग को लेकर नौगढ़ सीएससी पर बहिष्कार व नारेबाजी करते स्वास्थ्य कर्मी।

Young Writer, नौगढ़। अपंजीकृत अस्पताल का जांच करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की जिला स्तरीय टीम के साथ अभद्रता करके रिवाल्वर दिखाकर धमकाने का प्रयास करने के आरोपियों की गिरफ्तारी 4 दिनों बाद भी नहीं होने से काफी क्षुब्ध होकर आक्रोशित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्वास्थ्य कर्मियों ने सोमवार को कार्य का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया।

बीपीएम अरविंद कुमार सिंह के नेतृत्व में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सकों फार्मासिस्ट वार्ड ब्वाय स्टाफ नर्स एनम ईत्यादि स्वास्थ्य कर्मियों ने अस्पताल के मुख्य द्वार पर घंटों बैठकर आक्रोश का इजहार किया। कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित होने पर ही स्वास्थ्य सेवा जारी किया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग की टीम मे शामिल डा.सी पी.सिंह उप मुख्य चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में डा.विजय प्रकाश अपर मुख्य चिकित्साधिकारी शरद मिश्रा व चिकित्सा अधीक्षक डा.अवधेश सिंह ने शुक्रवार को सायंकाल औचक निरीक्षण कर के विभिन्न बीमारियों से ग्रसित पांच मरीजों का आपरेशन करके बेड पर लेटाया गया हुआ पाया था।

अस्पताल संचालक सुजीत कुमार से संचालन संबंधी कागजातों की मांग किए जाने पर वह गुस्से में होकर के अपशब्दों की बौछार करने लगा। तभी उसका साथी सत्यनारायण सिंह भी मौके पर आ गया। दोनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डा.अवधेश सिंह का कालर पकड़ कर स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ काफी हाथापाई करते हुए रिवाल्वर दिखला कर जान से मारने की धमकी दिया था। मौके पर जूटी काफी भीड़ के बीच बचाव करने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम को मौके पर से भागकर जाना बचाना पड़ा। घटना की लिखित तहरीर नौगढ थाने पर देकर के जिलाधिकारी पुलिस अधीक्षक मुख्य चिकित्सा अधिकारी व उपजिलाधिकारी को पत्र प्रेषित किए जाने के बाद अस्पताल संचालक सुजीत कुमार व सत्यनारायण सिंह के विरुद्ध नौगढ थाने में मुकदमा दर्ज होने के 4 दिन बाद भी अभी तक पुलिस ने अभियुक्तों को गिरफ्तार नहीं किया।