लंपी से बचाव के लिए माइक्रो प्लान बनाकर कराएं पशुओं का टीकाकरणः डीएम 

चंदौली कलेक्ट्रेट सभागार में अफसरों संग बैठक करती डीएम ईशा दुहन।

Young Writer, चंदौली। जिलाधिकारी ईशा दुहन की अध्यक्षता में जनपद स्तरीय गोवंश संवर्धन एवं संरक्षण तथा लंपी स्किन रोग (एलएसडी) से सुरक्षा एवं टीकाकरण के संबंध में बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा गोवंश के भरण पोषण में गैप प्रतिपूर्ति, हरा चारा उत्पादन, गोवंश आश्रय स्थलों को स्वावलंबी बनाने एवं उनमें सुधार पर चर्चा करने के साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। 

जिलाधिकारी ने पशुओं की लंपी स्किन बीमारी (एलएसडी) टीकाकरण हेतु माइक्रोप्लान बनाकर दीपावली पर्व से पूर्व हर हाल में टीकाकरण पूर्ण करा लेने तथा किसी भी हालत में एक भी पशु टीकाकरण से वंचित न रहने पाए निर्देश दिए। प्रत्येक विकास खंडों में टीकाकरण के प्रगति की समीक्षा में लक्ष्य के सापेक्ष कम टीकाकरण मिलने पर जिलाधिकारी ने धानापुर, चकिया तथा शहाबगंज के एसीबीओ से तथा बैठक में अनुपस्थित रहने पर ईओ सैयदराजा से स्पष्टीकरण मांगा। साथ ही अगली बैठक तक टीकाकरण में प्रगति ठीक न होने पर कठोर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी । जिलाधिकारी ने कहा कि टीकाकरण टीम से हर रोज टीकाकरण के बाद बुलाकर बैठक करे। टीकाकरण में तेजी लाने की रणनीति तैयार करे और लम्पी की सामान्य जानकारी, बीमारी के लक्षण तथा बचाव व सलाह अखबारों में प्रकाशित कराया जाय। बैनर हर सार्वजनिक स्थानों पर तहसीलों में, ब्लाकों में लगवाए तथा हर गांव में पोस्टर चस्पा किया जाय। ताकि आम जनता को इस बीमारी के बारे में जानकारी हो सके। जिस गांव में टीकाकरण के लिए जाना है एक दिन पूर्व ग्राम प्रधान और अन्य माध्यमों से सूचना दे। कहा कि जनपद स्तरीय अधिकारी भी भ्रमण करे एवं उपजिलाधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारी एक साथ नियमित भ्रमण करते हुए क्रियाशील रहें। कहा कि किसी भी गोवंश की पोषण या चिकित्सा के अभाव में मृत्यु न होने पाए। स्वाभाविक मृत्यु होने की दशा में शव को नियमानुसार दफनाया दिया जाय। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजीतेंद्र नारायण आदि उपस्थित रहे।