चंदौली दीवानी न्यायालय के नाम हस्तानान्तरित हुई अधिग्रहित जमीन

चंदौली कचहरी में एक-दूसरे को मिठाई खिलाते अधिवक्ता।
चंदौली कचहरी में एक-दूसरे को मिठाई खिलाते अधिवक्ता।

अधिवक्ताओं ने जताई खुशी, एक-दूसरे को खिलाई मिठाई

Young Writer, चंदौली। डिस्ट्रिक्ट डेमोक्रेटिक बार एसोसिएशन के साधारण सभा की बैठक शुक्रवार को अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई। जिसमें दीवानी न्यायालय भवन हेतु चिह्नित जमीन का अधिग्रहण सम्पूर्ण रूप से विशेष भूमि आज्ञप्ति अधिकारी वाराणसी द्वारा किए जाने के उपरान्त उक्त भूमि का अन्तरण अभिलेख में जनपद एवं सत्र न्यायाधीश चंदौली के नाम कब्जा सहित किए जाने पर खुशी व्यक्त की गई।
इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि जनपद का सृजन 13 मई 1997 में हुआ था और शेषन खण्ड की स्थापना वर्ष 1998 में की गई। जिसके लगभग 25 साल तक यहां के अधिवक्ता न्यायालय भवन की लड़ाई लड़ रहे थे। अपनी मांगों के समर्थन में महीनों-महीनों तक धरना-प्रदर्शन, आमरण अनशन तक किया गया। जिसमें जिले के व्यापार मंडल, किसान यूनियन, भूतपूर्व सैनिक यूनियन व सामाजिक संगठन व प्रदेश बार कौंसिल का खुला समर्थन मिला। उच्च न्यायालय के आदेश से चिह्नित जमीन के अधिग्रहण की कार्यवाही अंतिम रूप से बीते 19 अक्टूबर 2022 को विशेष भूमि आज्ञप्ति अधिकारी वाराणसी द्वारा पूरा करते हुए उक्त जमीन पर जिला जज चंदौली का नाम दर्ज किए जाने व कब्जा दिए जाने के सम्बन्ध में अपना आदेश जारी किया गया। इस क्रम में तहसीलदार सदर शुक्रवार को जमीन पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश चंदौली का नाम दर्ज करने व कब्जा की कार्यवाही पूर्ण की गई। इसके साथ ही अधिवक्ताओं के प्रथम चरण की लड़ाई व 25 वर्षों का संघर्ष सफल हुआ। इसके लिए बार एसोसिएशन द्वारा आपस में एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया गया। साथ ही इस संघर्ष में साथ देने वाले सामाजिक संगठन, व्यापार मंडल, प्रदेश बार कौंसिल उ0प्र0 के पूर्व चेयरमैन व नामित सदस्य हरिशंकर सिंह, अरुण त्रिपाठी व जनपद एवं सत्र न्यायाधीश सुनील कुमार व जिलाधिकारी चंदौली ईशा दुहन का आभार व्यक्त किया। बैठक में राजेंद्र प्रसाद पाठक, विद्याचरण सिंह, आनंद सिंह, सुल्तान अहमद, राकेश रत्न तिवारी, राजबहादुर सिंह, प्रकाश सिंह, राजेश मिश्रा, जेपी सिंह (टुन्नू), योगेंद्र सिंह, विजय कुमार गौतम आदि उपस्थित रहे। संचालन महामंत्री शमशुद्दीन ने किया।