दत्तक ग्रहणः लावारिस बच्ची को मिला स्पेन की महिला की ममता

चंदौली जिला प्रशासन ने कानूनी प्रक्रिया पूर्ण कर बच्ची व पासपोर्ट को किया सिपुर्द

Young Writer, चंदौली। महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित बाल गृह (शिशु) को लावारिस हाल में मिली बालिका अब अपने नए परिवार के साथ अपना जीवन आगे बढ़ाएगी। उसे स्पेन की एक महिला ने कानूनी प्रक्रिया पूर्ण कर दत्तक (Adaptation) लिया है। सोमवार को जिलाधिकारी ईशा दुहन व जिला प्राबेशन अधिकारी की ओर से भावी दत्तक माता को बच्ची व उसका पासपोर्ट सिपुर्द करते हुए उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना के साथ विदा किया गया।
विदित हो कि उक्त बालिका बाल शिशु गृह को लावारिस अवस्था में प्राप्त हुई थी। जिसे बाल कल्याण समिति चंदौली के आदेश पर बीते 24 नवंबर 2019 को आवासित कराया गया था। बालिका का कानूनी प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद बाल कल्याण समिति चंदौली द्वारा बालिका को कानूनी रूप से दत्तक ग्रहण (Adaptation) हेतु स्वतत्र घोषित किया गया था। केन्द्रीय दत्तक ग्रहण संसाधन प्राधिकरण, महिला एंव बाल विकास मत्रांलय, भारत सरकार नई दिल्ली के केयरिग्स के पोर्टल के माध्यम से विदेशी दत्तक ग्रहण एजेन्सी द्वारा पोर्टल पर पंजीकृत भावी दत्तक माता, जो स्पेन की प्रशासनिक सेवा में कार्यरत है। बच्ची को दत्तक ग्रहण करने के लिए अपना संदर्भ प्रेषित किया। जिसे स्वीकार करते हुए कानूनी प्रक्रियाओं को पूर्ण किया गया। इसके बाद केन्द्रीय दत्तक ग्रहण अभिकरण भारत सरकार महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा एनओसी जारी करने के उपरान्त उक्त बालिका का जन्म प्रमाण पत्र एवं पासपोर्ट निर्गत सम्बन्धित विभाग द्वारा किया गया। सोमवार को जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा भावी दत्तक माता को पासपोर्ट व बालिका को सकुशल उज्जवल भविष्य कि कामना करते हुए सुपुर्द किये। सुपुर्दगी के समय बाल गृह (शिशु) कोआर्डिनेटर अरविन्द कुमार, महिला कल्याण अधिकारी दीक्षा अग्रहरी एंव अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।