बड़ा हादसाः सरैया में जर्जर पुल का स्लैब टूटा, नहर में गिरे लोग

सरैया में जर्जर पुल टूटने के बाद राहत एवं बचाव कार्य में जुटे ग्रामीण।
सरैया में जर्जर पुल टूटने के बाद राहत एवं बचाव कार्य में जुटे ग्रामीण।

छठ पूजा के बाद लौटते हुए नहर पर बना पुल धराशाई 

Young Writer, चंदौली। जनपद के चकिया कोतवाली क्षेत्र के सरैया गांव के पास जर्जर पुल टूटने से पांच से अधिक लोग घायल हो गए। घटना के बाद मौके पर भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। स्थिति यह रही कि पुल का स्लैब कई हिस्सों में बंट गया। अचानक पुल के धराशाई होने से चींख-पुकार मच गयी, जिसे सुनकर मौके पर पहुंचे। लोगों ने तत्परता दिखाते हुए रेस्क्यू कर सभी को बाहर निकाल लिया‚ अन्यथा बड़ी घटना हो सकती थी। घायलों को इलाज के लिए आसपास के निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। 

सरैया में जर्जर पुल टूटने के बाद नहर में गिरे लोगों को बाहर निकालते ग्रामीण।
सरैया में जर्जर पुल टूटने के बाद नहर में गिरे लोगों को बाहर निकालते ग्रामीण।

विदित हो कि छठ पर्व के दौरान उगते सूर्य को अर्घ्य देने के लिए सरैया गांव के पास कर्मनाशा नदी से निकले नहर के पास लोग एकत्र हुए थे। ग्रामीण अर्घ्य देकर पुल के ऊपर से गुजर रहे थेे, तभी जर्जर हो चुका पुल का स्लैब टूटकर नहर में गिर गया और उस पर मौजूद लोग पुल के मलबे के साथ नहर में गिर पड़े। इस घटना में पुल के ऊपर मौजूद बच्चे, बूढ़े, महिलाएं नहर में गिरकर चोटिल हो गए और मौके पर लोगों की चींख–पुकार मच गयी। यह देख नहर के किनारों पर मौजूद ग्रामीणों ने तत्परता दिखाते हुए नहर में गिरे लोगों को बाहर निकालना शुरू कर दिया। संयोग अच्छा रहा कि कोई भी ग्रामीण मलबे के नीचे नहीं दबा, अन्यथा बड़ी घटना हो सकती थी। इस दौरान पांच लोग घायल हो गए। घटना के बाबत स्थानीय ग्राम प्रधान ने बताया कि पांच लोग घायल हुए हैं, जबकि पुलिस किसी के भी हताहत होने से इंकार कर रही है। इस घटना के बाद मौके पर भगदड़ जैसी स्थिति रही।  हालांकि पुलिस ने इससे मामूली घटना बताते हुए सबकुछ सकुशल होने का दावा किया। पुलिस अधिकारियों ने अपने बयान में कुछ ईंटे सरक कर नहर में गिरने की बात कही‚ जिसकी जानकारी होने पर ग्रामीणों में जबरदस्त आक्रोश देने को मिला।