लौह पुरूष सरदार पटेल के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत

चंदौली सपा कार्यालय पर सरदार पटेल की जयंती मनाते समाजवादी पार्टी के लोग।
चंदौली सपा कार्यालय पर सरदार पटेल की जयंती मनाते समाजवादी पार्टी के लोग।

Young Writer, चंदौली। समाजवादी पार्टी कार्यालय पर सोमवार को आचार्य नरेंद्रदेव व सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर सोमवार को श्रद्धापूर्वक मनाई गई। इस दौरान जिलाध्यक्ष सत्यनरायन राजभर की अगुवाई में सपाइयों ने दोनों महापुरुषों के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया।
इस दौरान सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव ने कहा कि प्रभुनारायण सिंह ने कहा कि देश की अखण्डता, एकता और देश की उन्नति में सरकार बल्लभ भाई पटेल व आचार्य नरेन्द्र देव का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। एक श्रेष्ठ भारत के निर्माण के लिए इन महापुरूषों को हम सभी नहीं भूल सकते। जिलाध्यक्ष सत्यनरायन राजभर ने कहा कि हम सभी को सरदार पटेल व आचार्य नरेंद्र देव के विचारों का अनुसरण करना चाहिए। क्योंकि इन महापुरूषों के आदर्शों पर चलकर ही समाज व देश का कल्याण हो सकता है। सुनील यादव गुड्डू ने कहा कि हमें महापुरूषों के संघर्ष, त्याग व तपस्या से सीख लेकर आगे बढ़ना होगा। सरदार पटेल ने आजादी के बाद पूरे देश को एकता के सूत्र में बांधा और यह संदेश दिया कि एकजुट होकर ही सशक्त बना जा सकता है। आज देश की अखंडता को बचाए रखने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करने की जरूरत है। इस अवसर पर महेश जायसवाल, अमरनाथ जायसवाल, मुश्ताक खान, नफीस अहमद गुड्डू, चंद्रभान यादव, सुदामा यादव, सुरेश यादव, संतोष यादव, राजकुमार जयसवाल मुसाफिर चौहान, रामसिंह चौहान, राजा खान आदि उपस्थित रहे। दूसरी ओर पुलिस लाइन में एसपी अंकुर अग्रवाल ने कहा हम सभी को राष्ट्रीय एकता बनाए रखने के लिए पटेल जी के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत है। अखंड राष्ट्र के योगदान को याद कर उनके पद चिन्हों पर चलने का संकल्प दिलाया।

डीडीयूनगर सपा कार्यालय पर सरदार पटेल की जयंती मनाते समाजवादी पार्टी के लोग।

डीडीयू नगर। समाजवादी पार्टी कार्यालय में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 147वीं जयंती पर श्रद्धापूर्वक मनाई गई। इस अवसर पर पूर्व सांसद व रामकिशुन ने कहा कि लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद लगभग 562 देशी रियासतों का भारत में विलय कराया। उनके इस कार्य को भुलाया नहीं जा सकता है। कहा कि बारदोली सत्याग्रह का नेतृत्व करते हुए उन्होंने अपनी नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया। पटेल के सत्याग्रह की सफलता पर वहां की महिलाओं ने उन्हें सरदार की उपाधि प्रदान की थी। पूर्व ब्लाक प्रमुख बाबूलाल यादव ने कहा कि कहा कि गांधी जी से प्रेरित होकर सरदार पटेल ने स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लिया था। इस दौरान जलालुदीन अंसारी, तेज बली, राजकुमार जायसवाल, अमरनाथ जायसवाल, औसाफ अहमद, अयूब खां गुड्डू, प्रेमनाथ तिवारी, संतोष मिश्रा, भइया लाल यादव, स्वदेशी गुप्ता, विजय पटेल, इंतजाम बीडीसी आदि मौजूद रहे।