कालाबाजारीः रात के अंधेरे में सहकारी समितियों से ब्लैक में बेची जा रही डीएपी खाद

Young Writer: किसानों द्वारा डीएम को लिखा गया खत।
Young Writer: किसानों द्वारा डीएम को लिखा गया खत।

जनौली सहकारी समिति पर खाद लदी पिकअप को किसानों ने पकड़ा

Young Writer, कमालपुर। धानापुर विकास खण्ड के जनौली सहकारी समिति पर मंगलवार की रात्रि में पिकअप पर लोड कर बिहार भेजी जा रही डीएपी खाद को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। बताते हैं कि रबी की फसल की बुआई के लिए किसान सहकारी समितियों पर डीएपी के दिन भर समिति का चक्कर काट रहे थे, परंतु सचिव द्वारा टेक्निकल गड़बड़ी का हवाला देकर किसानों को खाद देने में टालमटोल करता है।
वहीं रात्रि होते ही पिकअप डीएपी लोड कर ब्लैक किये जाने की खबर ग्रामीणों को मिली थोड़ी ही देर में रैथा, जनौली, बहेरी गांव के ग्रामीण सहकारी समिति पर पहुंच गए। ग्रामीणों की भनक लगते ही सचिव सहकारी समिति पर ताला मारकर फरार हो गया। घंटों इंतजार करने के बाद ग्रामीण लौट गए। रात्रि में डीएपी लदी पिकअप गायब हो गयी। इस कृत्य से क्षेत्रीय किसानों में जबरदस्त आक्रोश देखने को मिला। आरोप लगाया कि सचिव व सहकारी समिति पर तैनात कर्मचारी अपने लाभ के लिए खाद को ब्लैक में बेच रहे हैं जो पूरी तरह से गलत है। ग्रामीण प्रवीण राय, राजेन्द्र यादव, राजू राय, जयप्रकाश उपाध्याय, नसुडी, जयप्रकाश मौर्य आदि ने जिलाधिकारी सहित आईजी आरएस पोर्टल पर डीएपी की कालाबाजारी की शिकायत की है।