कार्यवाहीः बेड पर कुत्ता बैठने के प्रकरण में शहाबगंज चिकित्साधिकारी का चंदौली तबादला

Young Writer; प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शहाबगंज।
Young Writer; प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शहाबगंज।

वार्ड ब्वाय व चौकीदार के खिलाफ सीएमओ चंदौली ने की निलंबन की कार्यवाही

Young Writer, शहाबगंज। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के वार्ड में लगे बेड़ पर कुत्ता बैठने के प्रकरण को स्वास्थ्य महकमे व सरकार ने गंभीरता से लिया है। अधिकारियों ने जांच में जिम्मेदार चिकित्साधिकारियों की जिम्मेदारी, जवाबदेही व लापरवाही तय की। इसके बाद अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वाराणसी मण्डल के निर्देश पर सीएमओ डा.वाईके राय ने प्रभारी चिकित्साधिकारी सहित पांच स्वास्थ्य कर्मियों को स्थानांतरण व निलम्बित करने की कार्यवाही की है। इसे बड़े पैमाने पर हुए कार्यवाही से स्वास्थ्य कर्मियों में हड़कम मच गया।
विदित हो कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के गैलरी में एक कुत्ता बेड पर जाकर बैठ गया था। जिसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में 18 नवम्बर को वायरल कर दिया गया था। वायरल वीडियो के आधार पर प्रदेश की विपक्षी पार्टियां हमलावर हो गयी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने ट्वीट कर सीएमओ को जांचकर कार्यवाही करने का निर्देश दिया था। जिसकी जांच सीएमओ डा.वाईके राय व अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वाराणसी मण्डल अंशु सिंह ने अलग-अलग अस्पताल पर जाकर स्वास्थ्य कर्मियों से पूछताछ किया। अपर निदेशक के निर्देश पर मुख्य चिकित्साधिकारी अधिकारी ने मंगलवार की देर शाम को प्रभारी चिकित्साधिकारी अधिकारी डा.हीरालाल सिंह को कार्य में लापरवाही पाते हुए जिला अस्पताल में हस्तांतरण कर दिया। वहीं डा. निलेश कुमार मालवीय को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कटवामाफी से इलिया भेज दिया गया। वहीं फार्मासिस्ट सरवन को पीएचसी शहाबगंज से इलिया तथा वार्ड ब्वाय हरिद्वार व स्वीपर कम चौकिदार साजन को निलम्बित करते हुए मैढ़ी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर अटैच कर दिया। वहीं चिकित्सालय का कार्य सुचारू रुप से चलता रहे इसके लिए पीएचसी शहाबगंज का चार्ज जिला चिकित्सालय के डा. अमित कुमार दूबे, इलिया के फार्मासिस्ट रावेन्द्र सिंह को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शहाबगंज पर हस्तांतरण किया गया। इतने बड़े फेरबदल से स्वास्थ्य विभाग में हड़कम मचा हुआ है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा.वाईके राय ने कहा कि सभी के खिलाफ कार्य में लापरवाही बरतने पर कार्यवाही की गयी है।