14.3 C
New York
Wednesday, April 17, 2024

Buy now

जिला मुख्यालय के विकास के समर्थन में बंद चंदौली मार्केट।

- Advertisement -

एडीएम ने लिखित आश्वासन देकर चक्काजाम समाप्त करायाचंदौली। दीवानी न्यायालय निर्माण व जिला मुख्यालय विकास की मांग को लेकर अधिवक्ताओं का आंदोलन बुधवार को अपने शबाब पर रहा। इस दौरान नगर के व्यापारियों ने आंदोलन को पूर्ण समर्थन दिया और भारी संख्या में जुलूस निकालकर नगर भ्रमण पर निकले। इसके बाद जिला प्रशासन की उदासीनता से क्षुब्ध अधिवक्ता व व्यापारी हाइवे को जाम कर दिया। साथ ही विरोध में जमकर नारेबाजी की। चार घंटे के बाद चक्काजाम के बाद एडीएम ने छह माह के अंदर मुख्यालय के विकास से जुड़ी बुनियादी समस्याओं का हल करने का लिखित भरोसा दिया, तब जाकर व्यापारी-अधिवक्ता हाइवे से हटे। इस दौरान मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात रही। इस दौरान डिस्ट्रिक्ट डेमोक्रेटिक बार एसोसिएशन के महामंत्री झन्मेजय सिंह ने पांच किलोमीटर की परिधि में सदर तहसील क्षेत्र के अंतर्गत सभी सरकारी दफ्तरों के त्वरित निर्माण की मांग की। कहा कि जिन कार्यालयों के लिए निर्माण के लिए जमीन आवंटित हो गयी है उसका निर्माण तत्काल किया जाय। साथ ही सेल टैक्स व इनकम टैक्स की जो आफिसें वाराणसी संचालित हो रही है उसे यथाश्ीघ्र चंदौली जिला मुख्यालय पर स्थापित किया जाय। न्यायालय निर्माण को लेकर जारी गतिरोध को खत्म करके उसके निर्माण के जरूरी जमीन की उपलब्धता जिला प्रशासन सुनिश्चित करे। अधिग्रहण कार्य में किसानों को उचित मुआवजा राशि दिया जाय, ताकि किसान भाइयों का नुकसान न हो। विकास भवन को मुगलसराय तहसील क्षेत्र के झांसी में स्थानान्तरण की प्रक्रिया को रद्द कर उसे मुख्यालय पर स्थायी रूप से स्थापित करने की प्रभावी पहल की जाय। सिविल बार एसोसिएशन के महामंत्री धनंजय सिंह ने कहा कि जिस रफ्तार से प्रशासन चल रहा है उस लिहाज से चार हेक्टेयर जमीन के लिए चंदौली को 100 साल इंतजार करना पड़ेगा। प्रशासन समस्याओं का निस्तारण करने की बजाय आंदोलन के दमन में अपने प्रभाव व ताकत का इस्तेमाल कर रहा है। वहीं व्यापारी नेताओं ने कहा कि चंदौली के व्यापारियों को जिला प्रशासन ने हमेशा छलने का काम किया है। प्रशासन ने कुछ देने की बजाय समय-समय पर व्यापारियों को नुकसान पहुंचाने का काम किया है। लेकिन अब यह बर्दाश्त नहीं है। अंततः एडीएम अतुल कुमार तीन घंटे के बाद मौके पर पहुंचे और अधिवक्ताओं को मनाने का प्रयास किया। लेकिन अधिवक्ता लिखित आश्वासन की मांग पर अड़ गए। और लिखित रूप से आश्वासन मिलने के बाद भी चक्काजाम समाप्त हुआ। इस दौरान एसडीएम संजीव कुमार, एएसपी दयाराम सरोज, सीओ अनिल राय व कोतवाली पुलिस भारी संख्या में मौजूद रही। 

अधिवक्ता-व्यापारियों के बंद का आह्वान सफल!

चंदौली नेशनल हाएवे पर चक्का जैम ……..

…एडीएम ने क्या दिया आश्वसनचंदौली। एडीएम अतुल कुमार ने अपने लिखित भरोसा में कहा कि न्यायालय निर्माण के लिए आवश्यक जमीन के अधिग्रहण छह माह में पूर्ण कर लिया जाएगा। इसके अलावा सभी सरकारी कार्यालयों की स्थापना सदर तहसील क्षेत्र में चंदौली मुख्यालय के पांच किमी के परिधि में किया जाएगा। साथ ही जो भी सरकारी दफ्तर वाराणसी जनपद या कहीं अन्यत्र संचालित हो रहे हैं उन्हें जिला मुख्यालय पर स्थापित किया जाएगा। इनसेट—कई संगठनों का भी मिला साथचंदौली। जिला मुख्यालय के विकास के लिए जारी आंदोलन में बुधवार को व्यापक पैमाने पर जन समर्थन मिला। इसमें नगर क्षेत्र के व्यापारियों की बाहुल्यता रही। साथ ही तमाम राजनीतिक व गैरराजनीतिक लोगों का भी साथ व समर्थन मिला। इसमें सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू ने आंदोलन को समर्थन देते हुए इसे जायज बताया। कहा कि चंदौली के विकास को जानबूझकर राजनीतिक षड्यंत्र के तहत रोका जा रहा है जो उचित नहीं है। इसके अलावा जिला पंचायत सदस्य अंजनी सिंह, जन अधिकार पार्टी के जिलाध्यक्ष डा. सुनील कुमार मौर्य के अलावा महिला अधिवक्ता प्रतिमा दुबे व रीता भारती भी चक्काजाम व नगर भ्रमण में शामिल रहीं। वहीं व्यापारी नेता पवन सेठ, लक्ष्मीकांत अग्रहरि, शिवशंकर अग्रहरि पप्पू समेत तमाम लोगों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। इस अवसर पर उज्जवल सिंह, शमशुद्दीन, संतोष कुमार सिंह, अनिल सिंह पप्पू, अंकित यादव, बाबूलाल यादव आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights