31 उर्वरक केंद्रों पर छापेमारी विक्रेताओं में मची खलबली

चंदौली । अपर मुख्य सचिव कृषि के निर्देश पर मंगलवार को कृषि विभाग व जिले के अधिकारियों की टीम ने उर्वरक दुकानों पर छापेमारी की । जहां पर पांच विक्रेताओं को कारण बताओ नोटिस व दो दुकानों पर पीओएस मशीन व उर्वरक से संबंधित अभिलेख प्रस्तुत नहीं करने पर लाइसेंस निलंबित कर दिया गया । विभाग के इस कदम से उर्वरक विक्रेताओं में खलबली मच गई । टीम ने 31 उर्वरक बिक्री केंद्रों पर छापेमारी की , जहां 11 दुकानों से उर्वरक के नमूने लिए गए । वहीं पांच दुकाने आईएफएफडीसी बबुरी , किसान फर्टिलाइजर गोरारी , श्याम फर्टिलाइजर दुधारी पुलिया सैयदराजा , शिवम खाद भंडार अमड़ा , अनिता खाद भंडार काजीपुर सैयदराजा के विक्रेताओं द्वारा अभिलेख उपलब्ध नहीं कराने और दुकान बंद पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया । वहीं सकलडीहा रेलवे स्टेशन के समीप स्थित कुशवाहा फर्टिलाइजर व किसान खाद भंडार के विक्रेताओं द्वारा पीएसओ मशीन व उर्वरक से संबंधित अभिलेख प्रस्तुत नहीं करने पर लाइसेंस निलंबित कर दिया गया । जिला कृषि अधिकारी बसंत कुमार दुबे ने विक्रेताओं को निर्देशित किया कि कृषकों को निर्धारित दर पर गुणवत्तायुक्त उर्वरक की पीओएस मशीन से बिक्री करें और प्रतिदिन बोर्ड पर स्टाक व दर अंकन करें ।