23.7 C
New York
Wednesday, June 19, 2024

Buy now

केरायगांव में बंजर भूमि पर कब्जा से किसानों को सिंचाई संकट

- Advertisement -

इलिया। एक तरफ जहां चकिया के एसडीएम व ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा अवैध अधिक्रमण के खिलाफ एक्शन में है और न्याय आपके द्वार कार्यक्रम के तहत गांव-गांव भ्रमण कर अवैध अतिक्रमण व कब्जा करने वाले पर बुल्डोजर चला रहे हैं, वहीं दूसरी ओर चकिया तहसील क्षेत्र में अवैध अतिक्रमण व कब्जे के नए-नए मामले भी सामने आ रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रेमप्रकाश मीणा के धड़ाधड़ मामलों के निबटारे से ग्रामीणों में उम्मीद जगी है। उन्हें अब आईएएस के पारदर्शी कामकाज से इस बात का भरोसा जगा है कि उन्हें न्याय पाने के लिए न तो तहसील के चक्कर काटने होंगे और ना ही लम्बा समय गुजारना होगा। इस क्रम में केरायगांव निवासी शाजिद खान ने एसडीएम चकिया को शिकायती प्रार्थना-पत्र लिखकर कतिपय लोगों द्वारा लेहरा पट्टी में आराजी नंबर 159 जो राजस्व के कागजात में बतौर बंजर दर्ज है और मौके पर ताल के रूप में स्थित है। उक्त मौजा के उत्तर तरफ सड़क स्थित है। उक्त सड़क के उत्तर निवासरत कतिपय ग्रामीणों द्वारा सड़क के दूसरी ओर स्थित बंजर भूमि को पाटकर मड़ई व नाद-चरनी रखकर अवैध कब्जा किया गया है। ऐसा करने से मना करने पर वे मारपीट करने पर उतारू हो जाते हैं। उनके इस कृत्य से रास्ता अवरूद्ध हो रहा है। साथ कि पास-पड़ोस के किसान सिंचाई की समस्या से भी जूझ रहे हैं। इसे देखते हुए उन्होंने उक्त बंजर भूमि पर अवैध तरीके से काबिज कतिपय अतिक्रमणारियों को हटाए जाने की मांग की है। उनकी इस शिकायत को राजस्व विभाग ने संज्ञान में लिया है और क्षेत्रीय लेखपाल रवि शंकर राय की ओर से अवैध कब्जा हटाने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। लेखपाल ने कहा कि अवैध कब्जा किसी भी कीमत पर नही होने दिया जाएगा। इसके बाद भी वे बंजर भूमि पर अवैध तरीके से काबिज रहते हैं तो उनके विरूद्ध राजस्व विभाग आवश्यक कदम उठा जाएगा।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights