लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला बंद करें योगी सरकारः संतोष पाठक


चंदौली। आम आदमी प्रवक्ता व अधिवक्ता संतोष कुमार पाठक शुक्रवार को भाजपा सरकार व उसके जनप्रतिनिधियों पर हमलावर रहे। इस दौरान उन्होंने लोकतंत्र के चैथे स्तंभ पर लगातार हो रहे हमला बंद करने व स्वतंत्र पत्रकारों का उत्पीड़न रोकने की मांग की। कहा कि पत्रकारों को योगी सरकार जेल भेज रही है। विपक्ष की आवाज, छात्रों बेरोजगारों की आवाज, महिलाओं के उत्पीड़न के विरोध में उठ रही आवाज योगी सरकार पुलिस के बल पर दबाने का काम कर रही है।
उन्होंने कहा कि चकिया के पत्रकार कार्तिकेय पांडेय और रोहित तिवारी को भाजपा विधायक के कहने पर जिस तरह से दलित उत्पीड़न अधिनियम (एससी/एसटी एक्ट) के फर्जी मुकदमे में जिस तरह फंसाया गया वह लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरा है। स्वतंत्र रूप से काम करने वाले पत्रकार सरकार की कमियों, भ्रष्टाचार को उजागर करते हैं। ऐसे पत्रकारों को पुलिस के बल पर रोकने का काम सरकार कर रही है। इसे आम आदमी पार्टी कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। कहा कि भाजपा के चकिया विधान सभा के विधायक शारदा प्रसाद ने अपने प्रभाव का गलत इस्तेमाल करते हुए जिस तरह से चंदौली के पत्रकार कार्तिकेय पांडेय और रोहित तिवारी पर फर्जी एससी/एसटी का मुकदमा दर्ज कराया, वह लोकतंत्र के लिये बेहद खतरनाक व गंभीर चिंता का विषय है। मांग किया कि चकिया विधायक शारदा प्रसाद का अविलंब इस कृत्य के लिए माफी मांगे। साथ ही ऐसी फर्जी एफआईआर लिखने वाले अफसरों के खिलाफ निलंबन जैसी कार्यवाही की जाए।