2.9 C
New York
Thursday, February 22, 2024

Buy now

जिन्दगी की तलाश में… गजल संग्रह का लोकार्पित

- Advertisement -

मुख्य अतिथि दीनानाथ झुनझुनवाला ने किया विमोचन
डीडीयू नगर, चंदौली। राष्ट्रीय चेतना प्रकाशन द्वारा प्रकाशित साझा गजल संग्रह ‘जिन्दगी की तलाश में…’ का आर्य समाज मंदिर में लोकार्पण हुआ। इस दौरान मुख्य अतिथि प्रसिद्ध साहित्यकार व उद्यमी दीनानाथ झुनझुनवाला व विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार डा.शैलेंद्र सिंह, वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी डीडीयू नगर दिनेश चंद्र, अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ साहित्यकार डा.उमेश प्रसाद सिंह ने से किया। इस संग्रह में देश के ख्यातिलब्ध 17 गजलकारों की सात-सात प्रतिनिधि गजलें शामिल है।

इस दौरान मुख्य अतिथि ने कहा कि गजल अपने आप में विलक्षण विधा है। पहले की गजलों में महबूब से बात करने या अभिव्यक्त करने का भाव दिखाई पड़ता था, लेकिन अब गजलों में दुनियाबी बातें दिखाई पड़ती हैं जो इसे जन जन में लोकप्रिय बनाती हैं। विशिष्ट अतिथि डा. शैलेंद्र सिंह ने कहा कि गजल अपने आप में कठिन विधा है।इस विधा में सिद्धस्त लोग अपनी बात बड़े ही रोचक ढंग से कह जाते हैं। गजल सुनना और पढ़ना दोनों ही बहुत अच्छा लगता है।

वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी दिनेश चंद्र ने कहा कि जनपद चंदौली की धरती पर शुरू से ही साहित्य की खेती होती रही है। जनपद के साहित्यकार भारी संख्या में जनपद के बाहर अपनी भूमिका अदा कर रहे हैं। राष्ट्रीय चेतना प्रकाशन इसे आगे बढ़ाने का काम कर रहा है। गजल संग्रह के सभी गजलकारों को उन्होंने बधाई दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डा.उमेश प्रसाद सिंह ने कहा कि गजल संग्रह जिंदगी की तलाश में… स्थापित गजलकारों के साथ-साथ नवोदित गजलकारों को भी शामिल किया है, यह एक अच्छा प्रयोग है। इससे नवोदित गजलकारों को लिखने की चुनौती मिलेगीय वही स्थापित गजलकार भी गंभीर लेखन के तरफ अग्रसर होंगे। इसका शुभारंभ वाराणसी से आईं गायिका सुमन अग्रहरि के गणेश वंदना से हुआ। इसमें बाद उन्होंने एक राष्ट्रभक्ति सोहर व गजल भी गया। कार्यक्रम में गूगलमीट पर विशिष्ट अतिथि एआरटीओ प्रशासन डा.दिलीप गुप्ता, मनीष बादल, केशव शरण, शिवकुमार पराग, रामकृष्ण सहस्रबुद्धे, एम अफसर खां आदि भी जुड़े थे।


इस मौके पर धर्मेंद्र गुप्त साहिल, रामजी प्रसाद भैरव, दीनानाथ देवेश, एल उमाशंकर सिंह, जुबैर दिलदार नगरी, तारिक मसूद, हरिवंश बवाल, सुरेश अकेला,सुभाष क्षेत्रपाल,इंद्रजीत शर्मा, शमीम मिल्की, विनोद गुप्ता, राजकुमार जायसवाल, रमेश पाल, ओमप्रकाश जायसवाल, सर्वजीत सिंह,अशोक कुमार, सपना पांडेय, रोहित यादव, रिया सिंह, अनिता राय, नैना सिंह सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। अतिथियों का स्वागत साझा गजल संग्रह के संपादक प्रमोद कुमार सिंह समीर व प्रकाशक विनय कुमार वर्मा ने संयुक्त रूप से किया। संचालन व विषय प्रवेश कार्यक्रम संयोजक डा. अनिल यादव ने व धन्यवाद ज्ञापन आर्य समाज के प्रधान अरुण कुमार आर्य ने किया।

आर्य समाज मंदिर में लोकार्पण समारोह में उपस्थित साहित्यकारगण।

Related Articles

Ad

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights