सुरक्षा के बाद भी जिला अस्पताल और कचहरी से हो रही बाइक चोरी लोगो मे दहशत


चंदौली। जिला अस्पताल के ओपीडी गेट से मंगलवार की रात नौ बजे बाइक चोरी हो गयी। बाइक पत्रकार राकेश चंद्र यादव की बतायी जा रही है, जो इंजेक्शन लगवाने के लिए अस्पताल पहुंचे थे और जब बाहर आए तो उनकी बाइक गायब थी। घटना से ठीक तीन दिन पूर्व चंदौली नगर के ही संदीप अग्रहरि की बाइक उसी स्थान से चोरी हुई थी। जिला अस्पताल से लगातार हो रही बाइक चोरी की घटनाओं से आम लोगों में दहशत है, वहीं पुलिस लगातार शिथिल बनी हुई है, जिससे लोगों में आक्रोश है। इतना ही नहीं चंदौली कचहरी भी बाइक चोरों का अड्डा बन गया हैं जहां से आए दिन बाइक चोरी होती है। आरोप है कि पुलिस चोरी के मामले दर्ज करने से कतराती है। इस कारण ऐसे मामलों में समय से छानबीन नहीं हो पाती, जिससे चोरों का हौसला बुलंद है।
बताते हैं कि मंगलवार की रात पत्रकार राकेश चंद्र यादव जो इन दिनों अस्वस्थ हैं इंजेक्शन लगवाने के लिए अस्पताल पहुंचे। वह अपनी बाइक को ओपीडी गेट के पास खड़ी करके अस्पताल के अंदर चले गए और 10 मिनट बाद जब लौटे तो देखा कि बाइक वहां से गायब थी। सूचना पर सदर कोतवाली पुलिस व आसपास के लोग वहां इकट्ठा हो गए। पुलिस ने आसपास के पेट्रोल-पम्पों व इलाकों में छानबीन की, लेकिन बाइक का पता नहीं चल सका। जिस स्थान से बाइक चोरी हुई वहां चौबीसों घंटे सुरक्षा कर्मी तैनात रहते हैं। कोतवाली पुलिस के मुताबिक जिला अस्पताल की सुरक्षा में आठ होमगार्ड की तैनाती होती है, जिसमें चार सुबह के सिफ्ट में ड्यूटी देते हैं, जबकि चार शाम के वक्त ड्यूटी देते हैं। इसके बाद भी बाइक चोरी की वारदात होना पुलिस सुरक्षा पर सवाल खड़े करता है। चंदौली मुख्यालय स्थित जिला अस्पताल और कचहरी पर इनदिनों चोरों का गैंग सक्रिय है। पुलिस ड्यटी के बाद भी चोर आसानी से बाइक पर हाथ साफ कर फरार हो जा रहे हैं और वहा मौजूद पुलिसकर्मियों को उसकी भनक भी नही लग रही है।बढाती चोरी को लेकर नगरवासी व आस पास ले लोग दहशत में हैं। विदित हो कि सोमवार की शाम दो बाइक सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े पुलिस चौकी के सामने महिला संग चेन स्नेचिंग की घटना को अंजाम दिया, और फरार हो गए। घटना उस वक्त हुई जब महिला बाजार से खरीदारी कर घर लौट रही थी।