25.3 C
New York
Wednesday, June 19, 2024

Buy now

सैयदराजा थाने में युवक ने पुलिस के इकबाल को दी चुनौती‚ उपनिरीक्षक को दी धमकी

- Advertisement -


भाजपाई संग मारपीट के मामले में युवक ने खुलेआम किया दुस्साहस

सैयदराजा। चंदौली पुलिस का इकबाल एक बार फिर हाशिए पर नजर आया। सैयदराजा थाने में वारदात से जुड़ी वीडियो ने इसे एक बार फिर से पुष्ट किया। तेजी से वायरल हो रहे वीडियो में एक युवक थाने में आन-ड्यूटी दरोगा के वर्दी को हाथ लगाता है और उन्हें आघात पहुंचाते हुए दारोगा को जाति से संबोधित करते हुए फाड़ डालने की धमकी देता है। यह सबकुछ तब होता है जब सत्तासीन दल भाजपा के जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सिंह के साथ ही थाने की पूरी पुलिस फोर्स वहां मौजूद थी। बावजूद इसके उक्त युवक ऐसा दुस्साहिक कदम उठाकर पुलिस के इकबाल को खुली चुनौती देकर निकल गया। बावजूद इसके बुधवार की शाम तक उक्त प्रकरण को पुलिस ने संज्ञान ही नहीं लिया। बुद्धिजीवियों व कानून की जानकारी रखने वालों ने युवक के इस दुस्साहसिक कृत्य को संज्ञेय अपराध बताया। कहा कि जब पुलिस अपने सामने होने वाली आपराधिक घटनाओं में यदि कार्यवाही नहीं करेगी तो लॉ एण्ड आर्डर कैसे सुदृढ़ होगाॽ
दरअसल भाजपा नेता विशाल मद्धेशिया से मारपीट के मामले में सैयदराजा पुलिस व भाजपा आमने-सामने थी। इस दौरान जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सिंह, दिग्गज भाजपा नेता राणा प्रताप सिंह समेत पूरी की पूरी भाजपा सैयदराजा थाने में डंटी थी, तभी आरोपी उपनिरीक्षक जय प्रकाश यादव को तलब कर प्रकरण में उनका पक्ष जाना गया। इसी बीच भाजपाइयों के साथ वहां मौजूद एक युवक उठता है और उपनिरीक्षक को उनके जाति से संबोधित करते हुए उन्हें आखें दिखाता है और उनके बाजुओं पर अपने हाथ से तेजी से आघात पहुंचाने लगता है। उसने यह दुस्साहिक कृत्य भारी पुलिस फोर्स व भाजपाइयों की भारी भीड़ के बीच किया। बावजूद इसके पुलिस वाले कुछ भी करने व कहने की स्थिति में नजर नहीं आए। हालांकि पुलिस का अपमान होता देख भाजपा जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सिंह उठे और उक्त मनबढ़ युवक को उपनिरीक्षक से दूर किया। इसके पूर्व सैयदराजा थाने में धरनारत एक दिग्गज भाजपा नेता ने उपनिरीक्षक को भद्दी-भद्दी गालियां दी और सीधे पुलिस के इकबाल को ललकारा। इस पूरे घटनाक्रम में भाजपाई जहां आक्रमण मूड में नजर आए। वहीं पुलिस बल व पुलिस अफसर बैकफूट पर दिखे। अंततः जनपद पुलिस ने भाजपाइयों के मांग के मुताबिक उपनिरीक्षक व सिपाहियों को आरोपी मानते हुए उन पर धारा-307 दर्ज कर दिया। दूसरी ओर आन ड्यूटी तैनात उपनिरीक्षक को आघात पहुंचाने वाले युवक के विरूद्ध पुलिस ने मामला दर्ज कराना तो दूर इसे संज्ञान तक नहीं लिया। इस मामले में एसपी अमित कुमार व भाजपा जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सिंह से उनका पक्ष जानना चाहा, लेकिन उनका फोन नहीं उठा।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights