सड़क निर्माण के लिए प्रशासन के खिलाफ ग्रामीण मुखर

पुरवां-बरठा सम्पर्क मार्ग के अनिर्मित हिस्से पर खड़े होकर प्रदर्शन करते ग्रामीण।


बिछियां धरनास्थल पर जिला प्रशासन के खिलाफ किया आंदोलन
चंदौली। तय कार्यक्रम के तहत सड़क निर्माण की मांग को लेकर बरठा-पुरवां, जगदीशसराय, चकिया व मद्धूपुर गांव के ग्रामीण सोमवार को डिस्ट्रिक्ट डेमोक्रेटिक बार एसोसिएशन के महामंत्री झन्मेजय सिंह की मौजूदगी में गांव से जुलूस निकाला। ग्रामीण उक्त क्षतिग्रस्त रास्ते से होकर बिछियां धरनास्थल पर पहुंचे और 50 मीटर अनिर्मित सड़क के निर्माण की मांग की और नाकाम जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मांग किया कि जल्द से जल्द सड़क का निर्माण कराया जाय, जिसे कतिपय लोगों के दबाव में बनने नहीं दिया जा रहा है, जिससे पांच गांव के हजारों लोगों को आवागमन में समस्या हो रही है।
इस दौरान झन्मेजय सिंह ने कहा प्रकरण का स्थलीय निरीक्षण कर जिले के अफसर यह तय करें कि सड़क वास्तव में अस्तित्व में है या नहीं। यदि सड़क कायम है तो उक्त 50 मीटर के सड़क का निर्माण आगामी चार दिनों के अंदर कर दे। यदि सड़क का अस्तित्व अफसरों की जांच में नहीं मिला तो उसे पूरी से उखाड़ दिया जाए। कहा कि पूर्व में किए गए जांच में एसडीएम सदर द्वारा जांच की गयी, जिसमें 20 मीटर चौड़ी सड़क होने की बात अपनी जांच रिपोर्ट में सीडीओ चंदौली को बतायी गयी थी। इसके बाद भी सड़क निर्माण करा पाने में जिला प्रशासन अब तक नाकाम हुआ है, जिससे पांच गांव के हजारों ग्रामीणों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सूचना के बाद पहुंचे नायब तहसीलदार ध्रूवेश कुमार ने मांग-पत्र लिया और जल्द से जल्द सड़क निर्माण का भरोसा दिया। इस अवसर पर बृजेश सिंह, पुरवां प्रधान देवेंद्र प्रताप सिंह, हिनौता प्रधान प्रमोद कुमार, मद्धूपुर के प्रधान प्रकाश राम, सुरेंद्र प्रताप सिंह, हरिकेश बहादुर सिंह, बृजेश कुमार त्रिपाठी, मोहन सिंह, वीरेंद्र प्रताप छोटे, बाबा, जतन, रामशरण, केवली, जीरा, धरमू, लक्ष्मण आदि उपस्थित रहे।