16.2 C
New York
Sunday, April 21, 2024

Buy now

डीएम के समक्ष रखी राइस मिलरों ने समस्याएं चावल रिकवरी रेट घटाने व मिलिंग चार्ज बढ़ाने की मांग

- Advertisement -


चंदौली। धान की कुटाई के बाद चावल रिकवरी देर घटाने व मिलिंग चार्ज में इजाफा करने की मांग को जिले के राइस मिलर्स मंगलवार को पूर्वांचल राइस मिलर्स एसोसिएशन के बैनर तले जिलाधिकारी संजीव सिंह से मुलाकात की। मांग किया कि धान की कुटाई के बाद चावल की रिकवरी 67 प्रतिशत से घटाकर 58 से 60 प्रतिशत किया जाय। डीएम ने मिलरों की समस्या को गंभीरता से लिया और उनकी मांग शासन तक पहुंचाने का भरोसा दिया, ताकि उसका निदान अतिशीघ्र हो जाय।
इस दौरान पूर्वांचल राइस मिलर संघ के अध्यक्ष संजीव सिंह ने कहा कि विगत कई वर्षों का मिलर्स का विभिन्न एजेन्सियों पर भुगतान बकाया का भुगतान ब्याज के साथ व खाद्य विभाग के द्वारा किया जाय। धान एवं चावल का परिवहन मिलर्स के द्वारा की जाय। धान को रिजेक्ट करने का अधिकार मिलर्स को दिया जाय। धान प्राप्ति मिलर्स के डिजिटल हस्ताक्षर से करने की व्यवस्था लागू किया। चावल में आने वाली नमी के बदले चावल लिया जाय, न कि बिल से कटौती की जाय। लाट डिपो पर यदि 24 घंटे में अनलोड न हो तो मिलर्स को तीन हजार रुपये प्रतिदिन का होल्टेज कराया जाय। कहा कि मिलर्स को धान की कुटाई जाड़े के मौसम में होती है ऐसी स्थिति में मौसम तथा गोदामों में लेबर की कमी, पीडीएस उठान में रैंक आदि लग जाने के कारण 45 दिन में चावल का उतार नहीं हो पाता है। लिहाजा होल्डिंग चार्ज की अवधि 45 दिन से बढ़ाकर 75 दिन किया जाय। पुराने बकायेदार मिलर्स के लिए एकमुश्त समाधान योजना लागू करके काम करने का अवसर दिया जाय। यदि उपरोक्त मांगें नहीं मानी जाती है तब तक राइस मिलर्स सरकारी धान की कुटाई नहीं करेंगे। इस अवसर पर ओमप्रकाश गुप्ता, रामनगीना गुप्ता, नन्दलाल मौर्य, टीएन सिंह, संतोष तिवारी, आनंद सिंह, विनोद पांडेय, मदन जायसवाल आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights