सामंती व्यवहार व अहंकार से नहीं चलता शासनः मनोज काका

सकलडीहा। क्षेत्र के कुम्हारी गांव में सपा प्रवक्ता मनोज सिंह काका की मौजूदगी में प्रमोद भारती की पहल पर 100 से अधिक बसपा कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों समेत 300 से अधिक लोगों ने समाजवादी पार्टी का दामन थामा। इस दौरान समाजवादी कुंबला में विस्तार होने पर मनोज काका ने भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। कहा कि सामंती व्यवहार व अहंकार से शासन नहीं चलता। शासन चलाने के लिए संवेदनशीलता व प्यार की जरूरत होती है।
उन्होंने कहा कि योगी व मोदी क्या जाने गरीबी क्या होती है? ये तो वो लोग है जो दूसरों को अपने पैरों में गिराने का काम किया है। वोट का अधिकार, चोट का अधिकार है। बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर की देन है कि आज आपकी दहली पर 10-10 गाड़ियों के काफिले के साथ बड़े लोग पहुंचते हैं। यदि बाबा साहब नहीं होते तो बड़े लोग गरीबों-दलितों की बस्तियों में पहुंचकर आपके चरणों में नहीं पड़ते। यह सबकुछ बाबा साहब के संविधान की बदौलत हो सका है। बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर पूरी जिंदगी यातनाएं व दुश्वारियां सहकर दलितों व गरीबों को एक लाइन में लाने का काम किया। बाबा साहब व व डा. लोहिया अमीरों व गरीबों के बीच के फर्क को मिटाने का प्रयास करते रहे। उनकी सोच थी कि गरीब परिवार के बच्चों को शैक्षणिक संस्थानों में नौकरी मिले और वे भी अग्रणी पंक्ति में खड़े नजर आए। बाबा साहब के निधन के बाद इस सोच को डा. लोहिया ने आगे बढ़ाया। कहा कि कुम्हारी गांव में बिजली विभाग ने गरीबों के घर 10-10 हजार रुपये का बिल भेज दिया। जिन गरीबों के घर राशन लाने के लिए 100 रुपये नहीं है वह भला बिजली का बिल कैसे भरें। भरोसा दिया कि जल्द ही सकलडीहा एक्सईएन से मुलाकात कर गरीबों का बिल भुगतान कराया जाएगा। ऐसा नहीं होने पर गरीबों के हक की लड़ाई सपा लड़ेगी। ग्रामीणों का आह्वान किया विशेष पुनरीक्षण दिवस पर नए मतदाताओं का नाम सूची से जुड़वाएं।