12.9 C
New York
Monday, May 20, 2024

Buy now

अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर व्रतियों ने मांगी सुख–समृद्धि

- Advertisement -

चंदौली। लोक आस्था का महापर्व डाला छठ पर्व के तीसरे दिन शाम होते ही जनपद के नदी, सरोवर, तालाब व पोखरों के तट लोगों की भीड़ से गुल्जार हो उठे। इस दौरान व्रती महिलाओं ने बुधवार को सरोवर व तालाब पहुंचकर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया। इसके पूर्व महिलाएं नए पोशाक धारण कर छठी माता के गीत गाते हुए समूह में गाजे-बाजे के साथ सरोवर पर छठी माता के गीत गाते हुए पहुंची और घाट पर पहुंचने के बाद घंटों पानी में खड़े होकर भगवान भास्कर के अस्त होने का इंतजार किया। जैसे ही आसमान की लालिमा धूमिल पड़ने लगी। व्रती महिलाओं ने भगवान भास्कर को पूरे विधि-विधान के साथ अर्घ्य दिया। इस दौरान सरोवरों पर भारी भीड़ देखने को मिली। वहीं सुरक्षा के भी कड़े बंदोबस्त देखने को मिला। सरोवरों पर अनावश्यक भीड़ न हो इसके पुलिस बल की ओर से बैरिकेडिंग आदि की व्यवस्था की गयी थी।


विदित हो कि नगर के प्राचीन मां काली मंदिर प्रांगण स्थित पोखरे एवं सावजी के पोखरे पर डाला छठ पर्व पर व्रती महिलाओं का जमावड़ा लगता है। इसे देखते हुए स्थानीय व्यवस्थाओं के साथ ही प्रशासन ने पहले ही तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया था, ताकि घाट पर आने वाली व्रती महिलाओं को किसी प्रकारा की असुविधा न हो। बुधवार की शाम तीन बजते-बजते महिलाओं की टोली मोहल्लों से निकलकर घाटों की ओर रुख कर दिया। इस दौरान कोतवाल अनिल पांडेय सावजी के पोखरे के पास मौजूद होकर भीड़ को नियंत्रित करते हुए नजर आए। इसी तरह प्राचीन मां काली मंदिर तक जाने वाले रास्ते पर भी पुलिस बल व्रती महिलाओं व भक्तों की मदद करती दिखी। इसके अलावा स्काउट-गाइड के बच्चे भी घाटों व मेला क्षेत्र में लोगों का सहयोग करते नजर आए। शाम पांच बजे के बाद जैसे ही सूर्य अस्त हुआ सरोवर के तालाब में खड़ी महिलाओं ने भगवान भास्कर को पहला अर्घ्य देकर परिवार की सुख-समृद्धि की मंगल कामना की। वहीं दूरदराज से अर्घ्य देने आयी व्रती महिलाएं घाट पर ही रुक गयी।

नगर पंचायत ने लगाया कैम्प
चंदौली। डाला छठ पर्व व्रती महिलाओं की सुविधा के लिए नगर पंचायत की ओर शिविर का आयोजन किया गया था, जिसमें चेयरमैन रवींद्रनाथ व ईओ अनिल सिंह, अशोक त्रिपाठी छोटू सावजी के पोखरे पर मौजूद रहे। इस दौरान सभासद व कर्मचारियों द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्र से लगातार सुरक्षा को लेकर सचेत किया गया। साथ ही पूजा के दौरान घाट पर किसी तरह की अप्रिय घटना न होने पाए।
इनसेट—
लोक समर्पित नजर आई पुलिस व स्काउट-गाइड
चंदौली। डाला छठ पर्व को हर्षोल्लासपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराने के लिए पुलिस प्रशासन के साथ-साथ स्काउट-गाइड के बच्चे बुधवार की शाम सक्रिय व लोक समर्पित नजर आए। इस दौरान हाइवे पर महिलाओं व उनके परिजनों को सुरक्षित पार कराने के साथ-साथ पोखरों पर सुरक्षित पहुंचाने तक में पुलिस व स्काउट-गाइड में उम्दा कार्य किया। इस दौरान उचक्कों व सोहदों पर निगरानी के लिए सादे वेश में पुलिस के जवान तैनात किए गए थे, ताकि चोरी व उचक्कागिरी जैसी घटनाएं घाटों पर न होने पाए। इस दौरान व्रती महिलाओं को पुलिस द्वारा लगातार जागरूक किया गया। वहीं नगर के प्राचीन काली माता मंदिर के साथ ही सावजी के पोखरे पर पानी में गोताखारों की भी तैनाती की गयी।

अस्ताचल सूर्य को व्रती महिलाओ ने दिया अर्घ्य
चकिया। नगर के मां काली मंदिर पोखरे पर नगर सहित बिहार बार्डर के समीपवर्ती गांवो से आयी व्रती महिलाओ ने बुधवार की सायं अस्ताचल सूर्य को अर्घ्य देकर अपने सन्तान की लम्बी उमर की कामना की। वहीं क्षेत्र के शिकारगंज पोखरा, सिकन्दरपुर पोखरा, मुजफ्फरपुर स्थित चन्द्रप्रभा नदी, जागेश्वरनाथ सहित कई छोटे-बड़े तालाबो एवं पोखरे पर भी व्रती महिलाओ ने डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया। छठ महापर्व के अवसर पर चकिया नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो में व्रती महिलाओ एवं उनके परिजनो ने जलता हुआ दीपक, फल-फूल, मिष्ठान आदि सूप, दौरी में लेकर गाजे-बाजे के साथ तालाबो, पोखरो, नहरो तथा नदियो के किनारे पहुंचे तथा डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर कठिन व्रत आरम्भ किया।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights