सैयदराजा विधानसभा ने फिर दोहराया इतिहास सुशील सिंह जीते

Young Writer, सैयदराजा। क्रांतिकारी व शहीदी धरती सैयदराजा ने एक बार फिर इतिहास दोहराया। सैयदराजा की आवाम ने एक बार फिर सुशील सिंह को अपना जनप्रतिनिधि चुनते हुए उन्हें विधानसभा भेजा है। मतगणना के सात राउंड पिछड़ने के बाद सुशील सिंह ने आठवें राउंड में बढ़ बताई तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। उनकी बढ़ती मतगणना बढ़ने के साथ ही बढ़ती गई। कई ऐसे अवसर आए जब सपा प्रत्याशी उनके मतों के करीब पहुंचने का प्रयास किया, लेकिन सुशील सिंह की बढ़त अंततः अजेय रही और उनकी विजय करीब 11600 मतों से घोषित हो गयी। विजय की घोषणा के साथ ही पूरा का पूरा मंडी परिसर जय श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा। इस दौरान सुशील सिंह के समर्थकों का उत्साह देखते ही बन रहा था।

विदित हो कि विधानसभा चुनाव-2022 में सैयदराजा शुरू से ही हाट सीट रही। यहां भाजपा के वर्तमान विधायक सुशील सिंह व पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू में कांटे की टक्कर रही। दोनों ही नेताओं ने जनता में अपनी पैठ को मजबूत बनाए रखा। सुशील सिंह के समर्थक भाजपा के कई दिग्गज नेताओं के ताबड़तोड़ चुनावी सभाएं एवं रैलियां हुई। इसी का परिणाम रहा कि सुशील सिंह भाजपा शासनकाल की उपलब्धियों, विकास के वादों-इरादों के बल पर चुनाव लड़े और मजबूती से डंटे रहे। मतदान के बाद हार-जीत को लेकर उत्सुकता व चर्चाएं अपने चरम पर रही, जिस पर मतगणना शुरू होते ही विराम लग गया। शुरुआती चरणों में मनोज सिंह डब्लू बढ़े, लेकिन सुशील सिंह ने लीड लेते हुए निरंतर अपने जीत के आंकड़ों को चरण बढ़ने के साथ ही बढ़ाते चले गए। स्थिति यह रही कि अंतिम चरण आते-आते जीत का आंकड़ा 11 हजार को पार कर गया। ऐसे में जैसे ही मतगणना स्थल पर लगे ध्वनि विस्तारक यंत्र से सुशील सिंह के जीत की घोषणा हुई। नारों व जयकारों से पूरा मतगणना स्थल गूंज उठा। सैयदराजा विधायक सुशील सिंह ने इसे जनता की जीत करार दिया। कहा कि जनकल्याण के लिए जो भी वादे और इरादे किए गए हैं उन्हें पूरा करके सैयदराजा विधानसभा को मॉडल विधानसभा बनाने के लक्ष्य के साथ अगले कार्यकाल में काम होगा। सैयदराजा की जनता ने एक बार फिर सुशासन व जनकल्याण को वरीयता दी है। जनता के एक–एक मत का पूरा सम्मान होगा। इस दौरान समर्थकों ने विजयी होकर बाहर आए सुशील सिंह का माल्यार्पण कर खुशी का इजहार किया।