बाल संसदः सुधांशु चौहान बने प्रधानमंत्री और अंजली को मिला शिक्षा मंत्रालय

सकलडीहा के परिषदीय विद्‍यालय में आयोजित बाल संसद चुनाव का निरीक्षण करते बीईओ अवधेश राय।
सकलडीहा के परिषदीय विद्‍यालय में आयोजित बाल संसद चुनाव का निरीक्षण करते बीईओ अवधेश राय।

Young Writer, सकलडीहा। परिषदीय विद्यालयों के बच्चों में सक्रिय भागीदारी और नेतृत्व क्षमता को बढ़ावा देने के लिये बाल संसद गठन का पहल केन्द्र सरकार और यूनिसेफ के माध्यम से शुरू किया गया है। इस क्रम में शुक्रवार को कम्पोजिट विद्यालय सकलडीहा में एक दिवसीय बाल संसद चुनाव का आयोजन किया गया। बाल संसद के चुनाव में प्रधानमंत्री पद पर चुनाव कराया गया। इस दौरान कुल आठ उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र खरीदा, नामांकन किया। उन्हें चुनाव चिन्ह आंवटित किया गया। इसके बाद मतदान और मतगणना के बाद विजयी प्रत्याशी की घोषणा किया गया। अंत में प्रधानमंत्री द्वारा अन्य पदों पर मंत्री मंडल का विस्तार किया गया। बाल संसद गठन के दौरान बीईओ अवधेश राय पहुंचकर चुनाव कार्यक्रम का निरीक्षण किया।
बाल संसद के चुनाव को लेकर सुबह से कम्पोजिट विद्यालय के छात्रों में काफी उत्सुकता बनी रही। चुनाव अधिकारी के देखरेख में चुनाव की प्रक्रिया शुरू किया गया। प्रधानमंत्री के लिये कुल आठ उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भरा। इसके बाद सभी नामांकन पत्रों की जांच की गयी। जांच के बाद वैध उम्मीदवारों की सूची और चुनाव चिन्ह आंवटित किया गया। निश्चित समय से मतदातन पीठासीन और सेक्टर मजिस्ट्रेट के देख रेख में शुरू हुआ। मतदान के बाद मतगणना किया गया। जिसमें सुंधाश चौहान ने 122 मत पाकर प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए। वही अजोरी 63 मत पाकर खेलमंत्री, श्वेता 41 मत पाकर स्वच्छता मंत्री, दीपांशु 38 मत पाकर पर्यावरण मंत्री, अंजली 23 मत पाकर शिक्षा मंत्री, प्रियांशी 20 मत पाकर सांस्कृतिक मंत्री, साहिल 12 मत पाकर बागवानी मंत्री और हरिओम 8 मत पाकर मिल डे मिल मंत्री बनाया गया। मुख्य चुनाव अधिकारी विद्यालय की प्रधानाचार्या उर्मिला देवी ने बताया कि कुल कक्षा चार से आठ के 327 बच्चों ने बाल संसद चुनाव में प्रतिभाग किया। 75 प्रतिशत मतदान हुआ। चुनाव संयोजक धीरज शाह चुनाव पर्वेक्षक  मीरा टाइगर, दीपशिखा, बच्चों के पीठासीन अधिकारी स्नेहा वर्मा विकास, नेहा, शिवम की देखरेख में चुनाव संपन्न हुआ। अंत में सभी निर्वाचित पदाधिकारी को बीईओ अवधेश राय और प्रधानप्रतिनिधि अशोक कुमार ने मिठाई खिलाकर बधाई दी। इस मौके पर दुर्गा प्रसाद, संगीया जायसवाल, सुशीला सिह, मुसर्रत जहां, सुरेश कुमार गौतम, संध्या जायसवाल, विनय खरवार, कल्पना भारद्वाज, प्रज्ञा गौतम, सत्यनारायण प्रसाद, जसवंत आदि शिक्षक व कर्मचारी मौजूद रहे।