जान से मारने का प्रयासः धीना पुलिस ने दर्ज नहीं किया मुकदमा तो होगा आंदोलन

पुलिस लाइन में एएसपी से मुलाकात कर लौटते करणी सेना के पदाधिकारी।
पुलिस लाइन में एएसपी से मुलाकात कर लौटते करणी सेना के पदाधिकारी।

पीड़ित युवक संग न्याय मांगने पुलिस लाइन पहुंची करणी सेना

Young Writer, चंदौली। राष्ट्रीय करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष झनमेजय सिंह के नेतृत्व में करणी सेना व क्षत्रिय महासभा का एक प्रतिनिधिमंडल अपर पुलिस अधीक्षक विनय कुमार सिंह से मिला। इस दौरान ज्ञापन देकर आलमखातोपुर निवासी आकाश सिंह को जान से मारने का प्रयास करने वाले आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कठोर कानूनी कार्यवाही किए जाने की मांग की। साथ ही इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं करने व लापरवाही बरतने पर धीना थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

घायल व पीड़ित युवक आकाश सिंह।

आरोप हैं कि धीना थाना क्षेत्र के आलमखातोपुर गांव निवासी दिग्विजय सिंह के पुत्र आकाश सिंह हर घर पेयजल योजना के तहत काम करने वाली निजी कंपनी में असिस्टेंट फील्ड आफिसर के पद पर कार्यरत है। खझरा गांव में कार्य में अनियमितता पाए जाने पर दिग्विजय सिंह ने उसे रोकने का प्रयास किया तो कार्य करा रहे ठेकेदार द्वारा जान से मारने के लिए धारदार हथियार से गर्दन पर प्रहार किया गया है, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। पीड़ित के परिजन तीन दिन से मुकदमा दर्ज कराने के लिए धीना थाना का चक्कर काट रहे थे। थानाध्यक्ष द्वारा मामले में हीलाहवाली करने पर करणी सेना व छत्रिय महासभा के पदाधिकारी आक्रोशित हो गए। औऱ पीड़ित तथा उसके परिजनों के साथ पुलिस लाइन पहुंचकर तत्काल थानाध्यक्ष को बर्खास्त व बदमाशों पर कार्यवाई की मांग को लेकर अड़ गए। चेताया कि यदि पुलिस द्वारा दोषियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं किया गया तो हम लोग आंदोलन को बाध्य होंगे। इस बाबत अपर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल धीना थानाध्यक्ष को इस मामले में मुकदमा लिख कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है। इस अवसर पर देवेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना, ट्विंकल सिंह, रणवीर सिंह पिंटू, अंकित सिंह, रामप्रकाश सिंह, छोटू सिंह, शिवम सिंह, शिवकुमार सिंह, धीरज सिंह, हिमांशु सिंह आदि उपस्थित रहे।