मुनाफाखोरी के लिए झारखंड जा रहा 75 हजार लीटर तेल जब्त, चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज

चंदौली। पुलिस और आपूर्ति विभाग ने संयुक्त कार्रवाई में 3 टैंकरों से करीब 75 हजार लीटर तेल बरामद हुआ है जिसे मुनाफाखोरी के लिए अवैध तरीके से झारखंड ले जाई जा रही थी। फिलहाल आपूर्ति विभाग की तहरीर पर सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। बताया जा रहा है।

दरअसल बिहार और झारखंड में तेल की कीमतें यूपी की अपेक्षा ज्यादा है। ऐसे में अधिक मुनाफाखोरी के लिए गैर प्रान्त में तेल भेजने का खेल चल रहा था। मुखबिर की सूचना पर बीती रात एएसपी व जिला पूर्ति अधिकारी के नेतृत्व में संयुक्त कार्रवाई करते हुए नौबतपुर बॉर्डर से दो टैंकर पकड़े गए। जिनसे पूछताछ के बाद इस गोरखधंधे का खुलासा हुआ।वहीं ड्राइवर की निशानदेही पर महावीर पेट्रोल पंप से तीसरा लोडेड टैंकर बरामद हुआ।जिसके बाद पुलिस ने वहां लगी सीसीटीवी फुटेज से जुड़ी डीवीआर को अपने कब्जे में ले लिया। गौरतलब है कि महावीर पेट्रोल पंप हिदुस्तान पेट्रोलियम का यूपी का सबसे बड़ा सेल्स पंप है।ऐसे में अब इस बात की आशंका जताई जा रही है।महावीर पेट्रोल पंप पिछले काफी दिनों अवैध तेल के गोरखधंधे में संलिप्त था। जिसकी वजह से इसका सेल्स रेकॉर्ड स्तर पर पहुँच गया। इस बात की भी जानकारी की जा रही है।

जिलाधिकारी ईशा दुहन, ने बताया पुलिस और आपूर्ति विभाग की कार्रवाई में तीन टैंकर पकड़े गए है। जो तेल के अवैध कारोबार में संलिप्त थे। इसमें दो महावीर पेट्रोल पंप के है।जबकि एक हिमांचल प्रदेश से जुड़ा है। महावीर पेट्रोल पंप पर अवैध तरीके से टैंकरों की फिलिंग होती हैःजिसे झारखण्ड भेजा जा रहा था।आपूर्ति विभाग की तरफ से पेट्रोल पंप मैनजर समेत 4 लोगों के खिलाफ सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है।