जानलेवाः नेगुरा में जंग खाकर जर्जर हो चुका लोहे का विद्युत पोल‚ ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन करेंट

नेगुरा में जंग से जर्जर लोहे के विद्युत पोल का निकला हिस्सा।
नेगुरा में जंग से जर्जर लोहे के विद्युत पोल का निकला हिस्सा।

ग्रामीणों का आरोप आमजन की शिकायत को संज्ञान में नहीं लेते अधिकारी

Young Writer, चंदौली। नेगुरा गांव में बिजली विभाग के लोहे के पोल जर्जर होकर लोगों के लिए जानलेवा बन गए हैं। ग्रामीणों के शिकायतों को आधार माने तो जर्जर विद्युत को बदलने कई बार शिकायत की। लेकिन उनकी शिकायतों को संज्ञान में नहीं लिया गया। नतीजा आज उक्त विद्युत पोल तारों के सहारे हवा में झूल रहा है जो कभी भी धराशाही हो सकता है। जिससे जन और धन दोनों की हानि व बड़े नुकसान से इन्कार नहीं किया जा सकता। हालांकि एक्सईएन विद्युत ने जल्द जर्जर पोल को बदलने की बात कही है।

नेगुरा में जर्जर विद्युत पोल के पास खड़े ग्रामीण।
नेगुरा में जर्जर विद्युत पोल के पास खड़े ग्रामीण।

दरअसल नेगुरा गांव में रामकृत यादव के घर पास रास्ते पर लगा लोहे का खंभा का निचला हिस्सा जंग खाकर पूरी तरह से जर्जर हो चुका है। स्थिति यह है कि पोल का 85 से 90 प्रतिशत हिस्सा जंग खा चुकी है और मात्र 10 प्रतिशत हिस्सा जमीन व पोल के ऊपरी जोड़े हुए है। देखा जाए तो जिन तारों को सहारा देने के लिए पोल को गाड़ा गया था आज वही तार के सहारे खड़ा है जो कभी भी गिर सकता है। उक्त जर्जर विद्युत पोल से हाईटेंशन तार घनी आबादी से होकर गुजरा हुआ है। ग्रामीणों की माने तो जर्जर विद्युत पोल गिरा तो आसपास की आबादी इससे प्रभावित होगी। इसके साथ ही रास्ते से प्रतिदिन सैकड़ों ग्रामीणों का आवागमन होता है। साथ ही मवेशियों का भी उसी रास्ते आना जाना होता है। यदि जर्जर पोल गिरा तो जन को हानि पहुंचने के साथ ही लोगों को धन हानि का भी सामना करना पड़ेगा। इसे लेकर जहां आसपास के ग्रामीण चिंतित है, वहीं विभाग की लापरवाही से उनके अंदर आक्रोश भी है। इस बाबत एक्सईएन विद्युत ने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं था। समस्या की जानकारी होने के बाद एसडीओ को जर्जर विद्युत पोल को बदलने के लिए निर्देश दिए जाएंगे। जल्द से जल्द समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।