महंगाई पर नियंत्रण के साथ ही देश में एक समान शिक्षा को लागू करे सरकार

बिछियां धरनास्थल पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते प्रमसपा कार्यकर्ता।
बिछियां धरनास्थल पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते प्रमसपा कार्यकर्ता।

भाजपा सरकार के खिलाफ फूंका प्रमसपा ने फूंका बिगुल

Young Writer, चंदौली। प्रगतिशील मानव समाज पार्टी ने मंगलवार को बिछियां स्थित धरनास्थल पर विभिन्न मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ बिगुल फूंका और विरोध में जमकर नारेबाजी की। चेताया कि अगर मांगों पर विचार नहीं किया गया तो अगला आंदोलन उग्र होगा, जिसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी। अंत में प्रधानमंत्री के नाम संबोधित मांगों से संबंधित पांच सूत्रीय ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा।
इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार केवट, बिंद, निषाद, कश्यप, प्रजापति, राजभर, मल्लाह सहित 17 अतिपिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कराने के नाम पर गुमराह किया है। जब चुनाव आता है तो वादा करती है कि 17 अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कराकर उनको सम्मान देगी, लेकिन ऐसा नहीं करती है। ऐसी सरकार से समाज के लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। कहा कि बरगला कर वोट तो ले लेती है, लेकिन जीतने के बाद जातियों इन 17 जातियों के साथ भेदभाव किया जाता है। इसे किसी भी सूरत में समाज के लोग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मांग किया कि प्रत्येक शिक्षित युवाओं को रोजगार के साथ-साथ अनुसूचित जाति का कोटा 22 प्रतिशत से बढ़ाकर 35 प्रतिशत किया जाए। दोहरी शिक्षा पद्धति को समाप्त कर एक समान शिक्षा में दिया जाए, ताकि सभी गरीब मजदूर के बच्चे पढ़ सकेगे। आयुष्मान कार्ड को एटीएम कार्ड की तरह सरल और सुविधाजनक बनाया जाए और देश में बढ़ती हुई महंगाई पर रोक लगाने के साथ-साथ मूल्य वृद्धि को वापस लिया जाए, ताकि लोगों को राहत मिल सके। इस दौरान भोला बिंद, मोती लाल बिंद, गणेश, रमेश पासवान, बेचन बिंद, गुप्तेश्वर बिंद, रामअवतार बिंद,महेश, शशिप्रभा, रामप्रीत यादव, निरहू बिंद,रमेश बिंद, संतोष, अमरदेव, कन्हैया आदि उपस्थित रहे।