नवहीं गोलीकांड घटना में निर्दोषों को फंसा रही चंदौली पुलिस

Young Writer, चंदौली। क्षेत्र के नवहीं गांव के प्रधान राजेंद्र गौतम ने शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने बीते 14 जुलाई को नवहीं ग्राम सभा के हुए गोली कांड मामले से अवगत कराया। बताया कि चंदौली कोतवाली पुलिस उस मामले में कुछ निर्दोष लोगों को जबरन फंसाने का प्रयास व कार्यवाही कर रही है।
उन्होंने बताया कि उक्त मामले में बीचबचाव करने के कारण मुझे और गांव के उमापति के विरूद्ध पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा पढ़ने-लिखने वाले कई नौजवानों का नाम भी पुलिस ने विवेचना के दौरान शामिल किया है। कहा कि जिन नौजवानों का इस घटना से लेना-देना नहीं है पुलिस विवेचना के दौरान उन्हें अभियुक्त बनाकर उनके परिवार को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का काम कर रही है। इससे नवहीं गांव के लोग डरे सहमे हुए हैं। कहा कि निर्दोष पर कार्यवाही से पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं। आरोप लगाया कि कतिपय लोगों के दबाव व प्रभाव में आकर पुलिस द्वारा ऐसा किया जा रहा है। यदि ऐसा हुआ तो गांव के पढ़ने-लिखने वाले कई बच्चों का भविष्य बर्बाद हो जाएगा, जो किसी भी दृष्टिकोण से न्याय संगत व उचित नहीं है। लिहाजा इस प्रकरण में सही विवेचना करते हुए घटना में संलिप्त लोगों के खिलाफ ही कार्यवाही की जाए। इस प्रकरण में एसपी ने भरोसा दिया कि किसी भी निर्दोष नौजवान के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा, जिनके नाम गलत तरीके से विवेचना में शामिल किए गए हैं उन्हें न्याय मिलेगा।