10.9 C
New York
Sunday, March 3, 2024

Buy now

जमीन नापी के लिए सहमत हुए दोनों पक्ष, शनिवार को होगी नापी

- Advertisement -

चंदौली। क्षेत्र के गोरारी गांव के विस्थापन प्रकरण में आंदोलन जारी है। रास्ता व पानी के निकासी की मांग को लेकर पीड़ित ग्रामीण लगातार बिछियां धरने स्थल पर भूख हड़ताल और आमरण अनशन पर बैठे हुए थे। पिछले 09 मई को धरना स्थल पर विधायक रमेश जायसवाल पहुंचे और आमरण अनशन पर बैठे गोरारी संघर्ष मोर्चा औऱ भारतीय किसान यूनियन टिकैत के मंडल प्रवक्ता मणि देव चतुर्वेदी से बातकर आमरण अनशन तुड़वाया और जिलाधिकारी से बात कर आश्वासन दिया कि चुनाव बाद समस्या का निवारण हो जाएगा।
इस आश्वासन के तहत शुक्रवार को मुगलसराय विधायक रमेश जायसवाल व एसडीएम सदर की अगुवाई में तहसील प्राासन ने मौका मुआयना किया और कहा कि गोरारी गांव के लोगों की मांग जायज है। प्रभावित ग्रामीणों को आने जाने का मार्ग और पानी निकलने की व्यवस्था करना उनका दायित्व है। विधायक के निर्देश पर जमीन नापी की कार्यवाही एसडीएम की उपस्थिति में शुरू हुई। जो जमीन उक्त गली से लगी हुई है सबसे जमीन नापी की लिखित सहमति ली गयी। दोनों पक्ष जमीन नापी के लिए सहमत हो गए है। इस कार्यवाही की रिपोर्ट जिलाधिकारी को दी गयी। जिलाधिकारी इस प्रकरण पर पूरी नजर रखे हुये है। एसडीएम सदर दिग्विजय प्रताप सिंह ने विधायक की उपस्थिति में कहा कि कल जमीन की नापी की जाएगी, जो जमीन ज्यादा निकलेगी वो गली और सार्वजनिक उपयोग के लिए इस्तेमाल होगी। दोनों पक्ष इस बात को लेकर पूर्णतः सहमत थे। अब प्रशासन इस समस्या के निदान के तह तक पहुंच चुका है। चौहान सेना के अध्यक्ष छांगुर चौहान ने कहा कि हम सभी को विधायक और प्रशासन पर पूरा भरोसा है। 4 महीने हो गए, गोरारी गांव के लोगों को न्याय मिलने में देरी हो रही है। गोरारी संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष मणि देव चतुर्वेदी जो इस समय जिला हॉस्पिटल में 11 दिन से भर्ती है। कहा कि जब तक गोरारी गांव के 190 घरों के 1200 लोगों को न्याय नहीं मिल जाता, तब तक न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ता रहूंगा। इस मौके पर पीड़ित विक्रमा चौहान, मुंशी चौहान, खिचडू चौहान, भाई लाल, लालता चौहान, लक्षिमन चौहान, कमलेश चौहान, सुशीला देवी, श्याम गुड़िया, कांति देवी, उमरावती देवी, शशिकांत, छविनाथ, धीरज चौहान आदि आदि मौजूद रहे। अभी भी धरने पर खिचडू चौहान, शामू चौहान, मीरा देवी धरना स्थल बिछियां में बैठी हुई है।

Related Articles

Ad

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights