21.9 C
New York
Saturday, June 15, 2024

Buy now

Chandauli के विकास के प्रति जनप्रतिनिधि व सरकार उदासीन

- Advertisement -

चंदौली न्यायालय निर्माण को लेकर अधिवक्ताओं ने शुरू किया आंदोलन

Young Writer, चंदौली। संयुक्त बार एसोसिएशन के आह्वान पर चंदौली के अधिवक्ता शनिवार को दीवानी न्यायालय भवन निर्माण व मुख्यालय के सर्वांगीण विकास के लिए लामबंद नजर आए। इस दौरान जिला न्यायालय एवं मुख्यालय निर्माण संघर्ष समिति के तत्वावधान में अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में धरना-प्रदर्शन किया। इसके पूर्व जुलूस निकालकर पूरे कचहरी का चक्रमण किया और जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

इस दौरान अध्यक्ष जय प्रकाश सिंह ने सरकार व जनप्रतिनिधियों द्वारा जिले के विकास के प्रति उपेक्षात्मक रवैये पर आक्रोश व्यक्त किया गया। आरोप लगाया कि जनपद का सृजन हुए 26 वर्ष हो गए, किन्तु आज तक जिला स्तरीय कोई भी कार्यालय जनपद चंदौली में नहीं बना। दीवानी न्यायालय भवन हेतु जमीन उपलब्ध होने के बाद भी सरकार द्वारा आज तक निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं किया गया, जिससे न्यायिक अधिकारियों, वादकारियों व अधिवक्ताओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन मांगों को लेकर अधिवक्ताओं ने लगातार पत्राचार कर शासन-प्रशासन को अववगत कराया। साथ ही उच्च न्यायालय से मिलकर आवाज उठाते रहे। बावजूद इसके आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई और ना ही समस्याओं के प्रति शासन-प्रशासन की कोई सतर्कता व सक्रियता ही नजर आई। ऐसी स्थिति में मजबूरन अधिवक्ताओं को जनहित के इस अतिमहत्वपूर्ण मुद्दे को लेकर धरना-प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। अंत में सिविल बार अध्यक्ष चन्द्रभानु सिंह ने शासन-प्रशासन को चेताया कि जनहित में इन मांगों को अविलंब पूरा किया जाए अन्यथा आने वाले समय में धरना-प्रदर्शन को और प्रभावी ढंग से किया जाएगा, जिसकी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। इस अवसर पर मुरलीधर सिंह, पंचानन पांडेय, अनिल सिंह, झन्मेजय सिंह, योगेश सिंह, शहाबुद्दीन, शमशुद्दीन, सुल्तान अहमद, पंकज तिवारी, भूपेंद्र सिंह आदि ने अपने विचार रखें। संचालन राज बहादुर सिंह, अनिल सिंह व राकेश रत्न तिवारी ने किया।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights