31.6 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

Buy now

घोर लापरवाहीः नाली बनाई और मलबे को सड़क पर छोड़ गया ठेकेदार

- Advertisement -

हाल चंदौली कलेक्ट्रेट से सटे बिछियां कला गांव स्थित सीसी रोड का

Young Writer, चंदौली। कलेक्ट्रेट से सटे बिछियां कला गांव के ग्रामीणों को आवागमन में भारी दिक्कतें हो रही है। सीसी रोड के साथ ही नाली निर्माण के लिए ठेकेदार द्वारा खोदी गयी गड्ढे का मलबा विगत एक पखवारे से सड़क पर पड़ा है। जिस कारण बारिश होने से चारों ओर मलबा कीचड़ के रूप में फैल जा रहा है। ऐसे में जहां पैदल आवागमन में दिक्कत हो रही है, वहीं आसपास सके घरों में बारिश के पानी के साथ कीचड़ बहकर घुस जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि निर्माण के वक्त ठेकेदार से मलबा हटाने की बात कही गयी, लेकिन उसने अनसुना कर दिया। ऐसे में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर पीडब्ल्यूडी विभाग से इसकी शिकायत करते हुए मलबे को हटाने की मांग की है।

घोर लापरवाहीः नाली बनाई और मलबे को सड़क पर छोड़ गया ठेकेदार

विदित हो कि बिछियां कला गांव में नेशनल हाइवे से अंडर पास तक सीसी रोड निर्माण के साथ ही नाली का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। ठेकेदार द्वारा एक पखवारा पहले नाली का निर्माण कार्य करने के लिए सड़क किनारे खोदाई की गई और मलबे को सड़क पर छोड़ दिया। नाली का निर्माण हुए 10 दिन बीत गए। बावजूद इसके ठेकेदार द्वारा मलबे को सड़क से हटाया नहीं गया, जिससे बारिश होने पर मलबा सड़क पर कीचड़ के रूप में बहकर फैल गया है। मुख्य मार्ग होने के कारण पूरे दिन जाम की स्थिति बनी रहती है, वहीं आसपास के लोगों को आवागमन में दिक्कत हो रही है। कई लोगों के दरवाजे पर मलबे को निकालकर छोड़ दिया गया है, जिससे ग्रामीणों को अपने ही घर में आने-जाने में दिक्कत हो रही है। स्थिति इतनी खराब है कि बारिश के दौरान मलबा पानी के साथ बहकर घर में घुस रहा है। इससे जहां गंदगी की समस्या उत्पन्न हो गयी है वहीं दुर्गंध से भी ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। कई लोग गिरकर चोटिल हो गए है। हम सभी ग्रामीणों की सुनने वाला कोई नहीं है। ठेकेदार की मनमानी व लापरवाही से पीडब्ल्यूडी विभाग के साथ ही यूपी सरकार की छवि खराब हो रही है। अशफाक हैदर, अरविंद पासवान, विकास कुमार, अभिषेक कुमार व शैलेंद्र कुमार गुप्ता ने पीडब्ल्यूडी विभाग से मांग किया कि बिछियां कला गांव में सीसी रोड के ऊपर पड़े मलबे को हटाने का आदेश संबंधित ठेकेदार को दें। साथ ही उसके कड़े दंड से दंडित किया जाए, ताकि उसके इस कृत्य से आमजन को परेशानी न उठानी पड़े।

Related Articles

Election - 2024

Latest Articles

You cannot copy content of this page

Verified by MonsterInsights