सड़क के लिए सीएम से मिलने गोरखपुर कूच करेंगे ग्रामीण, प्रदर्शन कर जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों को किया आगाह

चंदौली। बरठा-पुरवां सम्पर्क का निर्माण नहीं होने से खफा पांच गांव के ग्रामीण मंगलवार को एक बार फिर सड़क पर नजर आए। इस दौरान उन्होंने जिला प्रशासन के साथ-साथ सड़क निर्माण में बाधक बन रहे जनप्रतिनिधियों पर जमकर निशाना साधा। साथ ही चेतावनी दी कि बुधवार को सुबह सूरज निकलते ही यदि सड़क का निर्माण आरंभ नहीं हुआ तो ग्रामीण गोरखपुर कूच कर जाएंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर जिले के अफसरों व जनप्रतिनिधियों की शिकायत करेंगे, ताकि मुख्यमंत्री को यह पता चल सके कि चंदौली के अफसर व सत्ता पक्ष के नेता भाजपा सरकार की नीतियों को कैसे पलीता लगा रहे हैं। इस दौरान डिस्ट्रिक्ट डेमोक्रेटिक बार एसोसिएशन के महामंत्री झन्मेजय सिंह ने कहा कि बरठा-पुरवां सम्पर्क मार्ग के निर्माण को लेकर पांच गांव के ग्रामीण बीते एक पखवारे से लामबंद है। बावजूद इसके जिला प्रशासन इस अतिआवश्यक व जायज मांग को अनसुना कर रहा है। इसे लेकर सत्ता पक्ष के जनप्रतिनिधियों से भी गुहार लगाई गयी, लेकिन उनका रवैया भी असहयोगात्मक रहा है। ऐसे में ग्रामीणों ने सड़क पर उतरकर कड़ा प्रतिकार किया तो झूठे वादे करके आंदोलन को टाला गया। जिला प्रशासन 50 मीटर तक क्षतिग्रस्त हाल में पड़े सड़क का निर्माण नहीं करा पाया। आरोप लगाया कि वह कतिपय लोगों व जनप्रतिनिधियों के दबाव में है। यदि वजह है कि तमाम साक्ष्य व रिपोर्ट होने के बावजूद पांच गांव के आवागमन की सुविधा को लगातार निरंतर नजरअंदाज किया जाता रहा है, लेकिन अब जिला प्रशासन की उदासीनता व उपेक्षा नहीं की जाएगी। यहां जो कुछ भी चल रहा है बुधवार को पांच गांव के ग्रामीण गोरखपुर के लिए कूच करेंगे। वहां सीएम के समक्ष उपस्थित होकर अफसरों व जनप्रतिनिधियों की शिकायत को पटल पर रखेंगे। 
फोटो-10