चंदौली में नहरों के टेल तक पानी पहुंचाना सुनिश्चित करें अफसर

चंदौली कलेक्ट्रेट में अफसरों संग बैठक करती डीएम ईशा दुहन।
चंदौली कलेक्ट्रेट में अफसरों संग बैठक करती डीएम ईशा दुहन।

डीएम ने बैठक में विभिन्न विकास कार्यक्रमों की प्रगति देखी

चंदौली। जिलाधिकारी ईशा दुहन ने शुक्रवार की देर शाम आयोजित बैठक में शासन की प्राथमिकताओ एवं विकास कार्यक्रमों के 37 बिंदु की समीक्षा की। केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं में घोर लापरवाही बरतने पर अधिकारियों का प्रतिकूल प्रविष्टि जारी करने के निर्देश जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को दिए। 

इस दौरान कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में संचालित विकास कार्यक्रमों व योजनाओं का क्रियान्वयन समयान्तर्गत पूरी पारदर्शिता के साथ हो। सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को मिलना सुनिश्चित हो। योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी स्तर पर हीलाहवाली या लापरवाही कत्तई न बरती जाए। मनरेगा योजना में मजदूरों को समय से भुगतान हो नहरों में टेल तक पानी पहुंचना सुनिश्चित करते हुए सिल्ट की सफाई गुणवत्तापूर्वक हो सिर्फ ठेकेदारो के भरोसे न रहे अधिकारी बीच-बीच में सफाई की गुणवत्ता देखें। 

जिलाधिकारी ने एक्सईन विद्युत को निर्देशित करते हुए कहा की बिजली की सप्लाई रोस्टर के हिसाब से संचालित रहे ट्रांसफार्मर खराब होने की सूचना के 48 घंटे के अंदर बदल दिए जाए और बकाया बिल की वसूली भी जल्दी करा लें। किसी भी अधिकारी की मोबाईल बंद न रहे। अगर किसी का फोन आता है तो उससे बात कर उसकी समस्या को सुने। प्रत्येक समाधान दिवस पर विद्युत विभाग अपना कैंप लगा कर प्राप्त शिकायतों का मौके पर निस्तारण करे। बैठक अनुपस्थित डीआईओ एनआईसी और बिना सूचना के जिले से बाहर जाने पर मत्स्य अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी और जिला कृषि अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों आवास पात्र व्यक्ति को ही मिले अगर मुझे शिकायत मिली की अपात्र व्यक्ति को आवास मिला है और जांच में दोसी पाए जाने वाले अधिकारी पर कार्यवाही और रिकवरी भी की जायेगी। ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत लक्ष्य के सापेक्ष स्वयं सहायता समूहों का गठन सुनिश्चित हो। जिला पूर्ति अधिकारी को कहा कि सस्ते-गल्ले की निलंबित या निरस्त दुकानों का नियमानुसार अविलंब आवंटन सुनिश्चित किया जाए। निराश्रित गोवंश आश्रय स्थलों पर पशुओं की देखरेख चारा-पानी के अलावा समय समय पर स्वस्थ परीक्षण हो। जिन श्रमिको का 90 दिन का कार्य पूर्ण कर लिए हैं उनका श्रम विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन अवश्य कराना सुनिश्चित करें। बैठक में सीडीओ अजीतेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. वाईके राय उपस्थित रहे।